23.7k Members 49.9k Posts

संप्रदायिकता का भेंट चढ़ती हमारी एकता

भारत को समस्त विश्व में एक धर्मनिरपेक्ष राष्ट्र के रूप में जाना जाता है और भारत ने ही विश्व को अनेकता में एकता एवं वसुधैव कुटुंबकम का पाठ पढ़ाया है और यह हमारी संस्कृति की पहचान भी है परंतु भारतीय राजनेताओं ने अपने तुच्छ एवं निजी स्वार्थों की पूर्ति के लिए सांप्रदायिकता की आग को हवा देने का तुच्छ काम किया है जिसके कारण देश में स्वतंत्रता के समय लगी सांप्रदायिकता की आग आज स्वतंत्रता के 70 वर्षों के बाद भी सुलग रही है और इस आग में जलती है आम जनता इसके भेंट चढ़ता है देश का भविष्य और तार-तार होती है देश की इज्जत और इसका लाभ मिलता है उन ओछे राजनेताओं को और जब तक हम इस राजनीति के गंदे खेल को नहीं समझ जाते तब तक ये नेता हमारी भावनाओं एवं अस्मिता से यूं ही खेलते रहेगें
रोहित राज मिश्रा
इलाहाबाद विश्वविद्यालय

Like 3 Comment 0
Views 4

You must be logged in to post comments.

LoginCreate Account

Loading comments
Amrit Sagar Rohit
Amrit Sagar Rohit
Chhapra
11 Posts · 122 Views
Student of Allahabad University&Dhyey ias, Cadet in N.C.C & N.S.S