Jan 10, 2019 · मुक्तक
Reading time: 1 minute

शूल

हर किसी से इतना अपनापन न जताया करो।
हर राज उसे अपना समझकर न बताया करो।
कौन कब दिल में शूल चुभाकर जख्म दे जाए-
ऐ दिल खुद को कमजोर बनाकर न सताया करो ।
–पूनम झा
कोटा राजस्थान 10-01-19
9414875654

1 Like · 38 Views
Copy link to share
पूनम झा
88 Posts · 8k Views
Follow 3 Followers
नाम-पूनम झा स्थान- कोटा,राजस्थान विधा- गद्य एवं पद्य में हिंदी व मैथिली में लेखन डेढ़... View full profile
You may also like: