Skip to content

शून्य पर प्रयास

Pramod Raghuwanshi

Pramod Raghuwanshi

कविता

April 29, 2017

?शून्य पर मेरा प्रयास——

शुन्य का भी अपना एक अलग स्थान है,

लग जाए किसी भी अंक में बाद में तो उसका बड़ा दाम है,

आज न हुआ वो कल हो जाएगा
बच्चों को भी तो आंकना बड़ा काम है,

?प्रमोद रघुवंशी?
दिनांक-28-04-2017

Share this:
Author
Recommended for you