Dec 26, 2020 · कविता
Reading time: 1 minute

शीर्षक – कोरोना विषाणु का आतंक

शीर्षक – कोरोना विषाणु का आतंक

दुनिया भर में फैल रहा
कोरोना विषाणु का आतंक
संचरित होकर कर रहा
मानव जाति का अन्त

दुनिया भर के वैज्ञानिक
खोज रहे वैक्सीन
अपने देश की खोज खबर
क्यों छिपा रहा है चीन

हर दिवस हर समय
बढ रहा संक्रमण
कोरोना कर रहा है
मानव का भक्षण

खाँसी छींक और छूत से
फैल रहा यह रोग
स्वयं को घर क्वारन्टीन करें
रूक सकता है रोग

कोरोना को रोकिये
करिये घर में टास्क
बाहर जाये तो रखे
अपने मुख पर मास्क

हर दिवस लक्षण में
बदल रहा कोरोना रंग
मात देने के लिए
रखिए सैनेटाइजर संग

एक मीटर की दूरी से
करिये सबसे बात
सावधानी ये जरा सी
देगी कोरोना को मात

निहाल छीपा “नवल”
गाडरवारा
जिला नरसिंहपुर
मध्यप्रदेश

Votes received: 37
13 Likes · 45 Comments · 213 Views
Copy link to share
निहाल छीपा
5 Posts · 622 Views
Follow 2 Followers
मैं निहाल छीपा नवल गाडरवारा जिला नरसिंहपुर मध्यप्रदेश से हूं काव्य सरिता साहित्यक संस्था संस्थापक... View full profile
You may also like: