.
Skip to content

शिकायते

Hansraj Suthar

Hansraj Suthar

गज़ल/गीतिका

April 10, 2017

वादे ज़िन्दगी भर साथ रहने के,,,,
वो तो पल दो पल ठहरे है!!!

दिए उनके जख्म दीखते नही ,,,,
पर जख्म वो गहरे है!!!!

कैसे सुनाऊ हाल ए दिल ,,,,,
वो दिल के बहरे है!!!!

दरिया सी मोहबत मेरी ,,,,
में किनारा वो लहरे है!!!!

खूबसूरत ना दिल उनके ,,,,
बस खूबसूरत वो चेहरे है!!!!

Author
Hansraj Suthar
Recommended Posts
ये माना घिरी हर तरफ तीरगी है
ये माना घिरी हर तरफ तीरगी है मगर छन भी आती कहीं रोशनी है न करती लबों से वो शिकवा शिकायत मगर बात नज़रों से... Read more
अभी पूरा आसमान बाकी है...
अभी पूरा आसमान बाकी है असफलताओ से डरो नही निराश मन को करो नही बस करते जाओ मेहनत क्योकि तेरी पहचान बाकी है हौसले की... Read more
आहिस्ता आहिस्ता!
वो कड़कती धूप, वो घना कोहरा, वो घनघोर बारिश, और आयी बसंत बहार जिंदगी के सारे ऋतू तेरे अहसासात को समेटे तुझे पहलुओं में लपेटे... Read more
निकलता है
सुन, हृदय हुआ जाता है मृत्यु शैय्या, नित स्वप्न का दम निकलता है। रोज़ ही मरते जाते हैं मेरे एहसास, अश्क बनकर के ग़म निकलता... Read more