शायरी

हर खुशी हर ग़म में तैरे साऐ का बसेरा था,
जब भी रहती थी तूं मैरें साथ उस वक्त नया सबेरा था,‌।
I miss you, sargam

Writer– Jayvind Singh Ngariya Ji

2 Likes · 10 Views
stueante, iti, B COM, AND writer, समाज सुधारक, नयी दिशाये बताने बाला, अपने फर्ज को...
You may also like: