Aug 31, 2016 · शेर
Reading time: 1 minute

शायरी से आज

शिकवे हज़ार करने हैं हमको किसी से आज
मन्सूब इसलिए हुए हम शायरी …से आज

लगने लगा है डर मुझे इतनी खुशी से आज
पूछा है हाल उसने मेरा हर.किसी से आज

1 Like · 1 Comment · 214 Views
Copy link to share
नीलोफ़र नूर
3 Posts · 431 Views
Follow 1 Follower
नाम :-आसमा परवीन तखल्लुस:- नीलोफर नूर पता:- ई.एच 20 प्रीत विहार दिल्ली रोड हापुड यौमे... View full profile
You may also like: