मुक्तक · Reading time: 1 minute

शायरी :– मुराद पूरी नहीँ हुआ करती !!

शायरी :– मुराद पूरी नहीं हुआ करती !!

यूँ तो दिल की मुराद हमेशा पूरी नहीँ हुआ करती !
क्योंकि हर माँगी मुराद नूरी नहीं हुआ करती !
पाकी नज़र से जी चाहे जो माँग लो ,
कसम खुदा कि कोई हसरत अधूरी नहीँ हुआ करती !!

1 Comment · 779 Views
Like
118 Posts · 58.7k Views
You may also like:
Loading...