Sep 20, 2017 · कविता
Reading time: 1 minute

**** शरद पूर्णिमा ****

**** शरद पूर्णिमा ****
===============
अश्विन मास शुक्ल पक्ष , शरद पूर्णमासी निशा सुहानी है
सोलह कलाओ , कोजागिरी पूनम शशि , चांदनी रोशनी है

ऋतुओ आनंद का उत्सव रचती है
प्रकृति आनंद का रास मनाती है

चन्द्रमा अपनी किरणों से अमृत बरसाता है
रजनीश दवा रोगी को पोषकता है

क्षीर खीर चांदनी रजनी में ओषधि का गुण है
शरद पूर्णिमा का अमृतमय प्रसाद ग्रहण करना है

@ कॉपीराइट
राजू गजभिये

133 Views
Raju Gajbhiye
Raju Gajbhiye
60 Posts · 9.4k Views
Follow 1 Follower
परिचय - मैं राजू गजभिये , लेखक एवं मार्गदर्शन (Counselor ) हिंदी साहित्य सम्मेलन सचिव... View full profile
You may also like: