23.7k Members 50k Posts

शब्द शक्ति

भाषा की शक्ति जब दी है
ईश्वर ने हमको भरपूर ।
उसका हम सद्उपयोग करें ।
कर दे सारे शिकवे दूर।
क्यो कटु बोले क्यो निंदा रस घोले
मीठा बोले हो मसहूर।
शब्द शक्ति सबसे ताकतवर
कर देती सब कठिनाई दूर।
मन के भाव मूर्त करती है
समझ मे आये जो हो दूर।
केवल भाषा अलग बनाती
मानव सब जीवो का नूर।

विन्ध्यप्रकाश मिश्र

19 Views
Vindhya Prakash Mishra
Vindhya Prakash Mishra
नरई चौराहा संग्रामगढ प्रतापगढ उ प्र
339 Posts · 21.6k Views
विन्ध्यप्रकाश मिश्र विप्र काव्य में रुचि होने के कारण मैं कविताएँ लिखता हूँ । मै...