शत-शत नमन कारगिल के वीरों

?
शत-शत नमन कारगिल के वीरों,
देश के खातिर अपनी जान गवाई।
शत-शत नमन उन शहीदों को जिसने
देश के खातिर सीने पर गोली खाई।

नमन कर रहा तुझे आज हर हिन्दुस्तानी,
भारत माँ की शान में जो दी तुने कुर्बानी ।
कारगिल विजय दिवस, भारत केइतिहास में,
सन 1999 है दिन 26 जुलाई ।
जब भारत के वीरों ने कारगिल युद्ध में,
पाकिस्तानी सेनाओं को धूल चटाई ।
शत-शत…..

कश्मीर रेखा नियंत्रण के जरिये घूस – पैठ की थी साजिश।
यह पाकिस्तानी परवेज मुसर्रफ की थी रंजिश।
खबर होते ही भारतीय सेनाओं ने तनिक न देर लगाई
जबाबी हमलों में हजारों सैनिकों ने अपनी जान गवाई।
शत-शत नमन………..

तोपों , लॉचरों से रोजाना होती थी लड़ाई,
युद्ध में सेना ने 2,50,000 गोलें, बरसाई।
इन्डियन एयर फोर्स ने “अॉपरेशन सफेद सागर” चलाई
मिग – 29से पाक के कई ठिकानों पर
आर 77 मिसाईलों से दुश्मन के छक्के छुड़ाई।
शत-शत नमन…….

कारगिल युद्ध की स्क्रिप्ट शायद पाकिस्तान ने तभी बनाई ।
जब पाक को शांति – पाठ पढाने पहुचे थे प्रधान मंत्री वाजपेई ।
युद्ध से पहले जगह कारगिल की न थी कोई बड़ाई ,
युद्ध के कारण कारगिल को पूरी दुनिया जान पाई।
शत-शत नमन….

अधिक ऊँचाई के कारण काफी मुस्किलें आई,
भीषण संघर्ष हुआ, पड़ोसी देश ने शिकस्त खाई।
भारतीय सेना ने पाक सेना को मार भगाई,
वीरों ने मातृभूमि पर पुन:नियंत्रण पाई ।
शत – शत-शत नमन…….

शत-शत नमन कारगिल के वीरों,
देश के खातिर अपनी जान गवाई ।
शत-शत नमन उन शहीदों को
जिसने सीने पर गोली खाई ।
??लक्ष्मी सिंह ??

Like Comment 0
Views 271

You must be logged in to post comments.

Login Create Account

Loading comments
Copy link to share