वो कहते हैं शायरी से पेट नही भरता

वो कहते हैं शायरी से पेट नही भरता
ख्वाइश फिर से है आज भूखा सोने की
*******************************
वो कहते हैं कि दिल का दर्द नही दिखता
ख्वाइश फिर से है आज बेपनाह रोने की
*******************************
कपिल कुमार
01/12/2016

Like Comment 0
Views 46

You must be logged in to post comments.

Login Create Account

Loading comments
Copy link to share