.
Skip to content

वैलेंटाइन

रामकृष्ण शर्मा बेचैन

रामकृष्ण शर्मा बेचैन

लेख

February 14, 2017

देख मान जा अब भी टाइम है।
वरना में वैलेंटाइन के विरोध में लिखूँगा।

जो गिफ्ट भेजने का इच्छुक हो पहले मेरा पता नोट कर लें ????

प्रिय मित्रों

प्रथम आप सभी को प्रेम दिवस की बधाई।
यूँ तो ये दिवस मुझे कभी प्रभावित नही किये यही कारण रहा इनकी बधाई देने में बहुत पीछे रहा किन्तु मेरे विचार से ये गलत नही है । प्रेम दिवस पर माँ-पिता की पूजा करो यह सब लिखा देखता हूँ तो खुद को घोर आश्चर्य में पाता हूँ ।
यूँ तो प्रेम किसी दिवस का मोहताज नही कितुं अगर इसके लिए उत्सव मानाने के लिए एक दिन तय कर लिया जाए तो भी में इसमें बुराई नही देखता हूँ।
जब होली दीपावली जैसे त्यौहारों के लिए दिवस तय है तो इसके लिए भी कर सकते है एक दिन ऐसा सब प्रेमरंग में हो।
अब मूल मुद्दे पर आता हूँ
माँ-पिता तो सुबह होते ही प्रथम वंदनीय है ।
हर दिन इनकी पूजा अनिवार्य है फिर भी मातृ पितृ दिवस निश्चित है।
जीवन साथी भी हमारे जीवन के अभिन्न अंग है तो उसके लिए भी इतना अनिवार्य है फिर पश्चिमि संस्कृति का हवाला देकर एक नेक कार्य का विरोध गलत समझता हूँ।
विरोध योग्य है खुले में इस प्यार की नुमाइश करना ये हमारी संस्कार नही सिखाते हमें बडों का सम्मान करना चाहिए शालीनता से यह दिवस पूरे उत्साह से मनाये मेरी शुभकामनाएँ है ,,,,में अपना एक शेर कह कर अपनी वाणी को विराम दूगाँ।।

“” सरेआम मत करो इश्क की नुमाइश
अंदर एक रूह है जो शर्म से जलती है””

नोट– इस की एक सही उम्र होती है बच्चे अपना ध्यान पढाई में लगायें जीवन का प्रवाह आप तक भी सही समय पँहुचेगा

इस पोस्ट पर किसी भी बहस के लिए में तैयार नही हूँ धन्यवाद

₩- रामकृष्ण शर्मा बेचैन

Author
रामकृष्ण शर्मा बेचैन
शिक्षा -बी•एसी माइक्रो पता-ग्वालियर म•प्र• Ramkrishansharmabechain@gmail.com दिल की कलम से अपने जज्बात लिखा करता हूँ कुछ खास नही बस अपने ख्यालात लिखा करता हूँ
Recommended Posts
प्रेम दिवस (वेलनटाइन दिवस)
प्रेम दिवस पर कामना, रहती यह हरबार ! देगा अच्छा प्यार से, .प्रेमी फिर उपहार !! हर रिश्ता इस दौर मे बना जहाँ व्यापार !... Read more
मित्र दिवस की बधाई
Kapil Kumar शेर Aug 7, 2016
इक पल भी तुम बिन न गुजारा है दोस्तों हाल जो है तुम्हारा वही हमारा है दोस्तों ******************************* कपिल कुमार 07/08/2016 मित्र दिवस की सभी... Read more
वैलेंटाइन डे युवाओं का एक दिवालियापन
प्रेम शब्दों का मोहताज़ नही होता प्रेमी की एक नज़र उसकी एक मुस्कुराहट सब बयां कर देती है, प्रेमी के हृदय को तृप्त करने वाला... Read more
मॉ
NIRA Rani कविता May 14, 2017
मॉ तुझे कुछ शब्दो मे व्यक्त कर दू ..... कभी हो नही सकता तेरी अनमोल ममता का हिसाब... कभी हो नही सकता बेचैन होती हूं... Read more