Skip to content

विदाई

लीलाधर मीना

लीलाधर मीना

कविता

May 13, 2017

दो और तीन मिलाकर थे तुम कुल उतने !
मेरे शिक्षक जीवन के प्रथम शिष्य थे तुम उतने !
इतिहास बना गए यादों का
कैसे भूलूँ तुम्हे !
विदा माँग रहे हो ? किस हृदय से विदाकरूँ तुम्हें !
.छोड़ चले तुम कक्षा काआँगन यादों की अंगड़ाई मुख पर मुस्कान लिए !
मन करता है रोक लूँ तुम्हें पर रोक नहीं सकता !
तुम हो आजाद गगन की पतंग खींच नहीं सकता !
चल पड़े तुम लेकर अपने कर्मों को उड़ चले दृगन में आशा नहीं वापस आवन की !
विदा माँग रहो हो? विदा के बहाने कुछ कह देता हूँ ;
छात्र-छात्राएँ नहीं तुम मानवीय करूणा के अवतार हो !
.हम भिन्न वर्ण भिन्न जाति भिन्न पंथ भिन्न रूप थे !
भिन्न धर्म -भाव ,पर प्राणों से हम एक थे !
विपथ होकर मुड़ना तुम्हें नहीं
चलने में तो सब चलते हैं
तुम्हे चलने का मार्ग बनाना हैं.
तोड़ दो तन की अकुलता,
तोड़ दो मन संकीर्णता
.बिन्दु बनकर बैठना नहीं
सिन्धु बनकर उठना है.
मेरे आशीष में यह नहीं कि तुम स्वर्ग में जाओ !
मैं कहता कि तुम भूतल को ही स्वर्ग बनाओ !
खो दिया अगर जीवन का स्वर्णिम सुअवसर !
समझो खो दिया जीवन का सकल सुयुग !
.इसी आशा के साथ विदा तुम्हें करता हूँ !
तुम्हारे शुभ कर्मो का तर्पण सदा करता रहूँ. !!!

—————×————-×——-

Share this:
Author
लीलाधर मीना
पता-महेशपुरा (कोटखावदा) जयपुर अध्यापक समसामयिक लेखक शिक्षा - NTT, BA ,BE.d MA (हिन्दी ) बडा बनने से ज्यादा मुझे सामाजिकता की जरूरत है ------------*-------------*------------*----------

क्या आप अपनी पुस्तक प्रकाशित करवाना चाहते हैं?

साहित्यपीडिया पब्लिशिंग से अपनी पुस्तक प्रकाशित करवायें और आपकी पुस्तक उपलब्ध होगी पूरे विश्व में Amazon, Flipkart जैसी सभी बड़ी वेबसाइट्स पर

साहित्यपीडिया की वेबसाइट पर आपकी पुस्तक का प्रमोशन और साथ ही 70% रॉयल्टी भी

साल का अंतिम बम्पर ऑफर- 31 दिसम्बर , 2017 से पहले अपनी पुस्तक का आर्डर बुक करें और पायें पूरे 8,000 रूपए का डिस्काउंट सिल्वर प्लान पर

जल्दी करें, यह ऑफर इस अवधि में प्राप्त हुए पहले 10 ऑर्डर्स के लिए ही है| आप अभी आर्डर बुक करके अपनी पांडुलिपि बाद में भी भेज सकते हैं|

हमारी आधुनिक तकनीक की मदद से आप अपने मोबाइल से ही आसानी से अपनी पांडुलिपि हमें भेज सकते हैं| कोई लैपटॉप या कंप्यूटर खोलने की ज़रूरत ही नहीं|

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें- Click Here

या हमें इस नंबर पर कॉल या WhatsApp करें- 9618066119

Recommended for you