मुक्तक · Reading time: 1 minute

विडंबना

क्यों कविता पर पहरे लगते?क्यों गीत को कारावास मिले?
क्यों सियाराम सतचिदानंद को अनचाहा बनवास मिले?
यह यक्षप्रश्न सा मचल रहा है मन के मानसरोवर में,
क्यों हंसों को कालापानी और कागों को कैलास मिले?

44 Views
Like
17 Posts · 829 Views
You may also like:
Loading...