.
Skip to content

¡¡ विज्ञान सम्मत भारतीय संस्कृति ¡¡

Ranjana Mathur

Ranjana Mathur

लेख

September 30, 2017

हमारे विशाल भारत देश की संस्कृति अत्यन्त समृद्धिशाली,विज्ञान सम्मत एवं गौरवपूर्ण अतुल्य ज्ञान का विहंगम और अनूठा संगम है। भारतीय संस्कृति में प्रचलित समस्त परम्पराएं, प्रथाएं, रीति रिवाज वह धार्मिक पर्व पूर्णतः न्याय संगत, तर्क संगत, यथार्थ प्रण, सत्यनिष्ठ एवं विज्ञान की कसौटी पर खरा उतरने वाले हैं।

इस संबंध में एक ठोस उदाहरण भगवान् श्री राम का ही ले लीजिए। प्रभु श्रीराम के जन्म के समय की गणना से लेकर उनके शासनकाल संबंधी हिन्दू धर्मग्रंथों में वर्णित जानकारी आज भी वैज्ञानिक अनुसंधानों में यथावत एवं अक्षरशः सत्य सिद्ध हो रही हैं। नासा द्वारा हिन्द महासागर में डूबे हुए और वर्तमान में समुद्र तल में पड़े हुए सेतु की लंबाई चौड़ाई और उस में प्रयुक्त जिस सामग्री का वर्णन किया गया है वही लंबाई चौड़ाई वर्षों सामग्री हजारों वर्षों पूर्व हमारे धर्म ग्रंथ रामायण में रामसेतु दर्शाई गई है। है न बड़े आश्चर्य की बात।
तो ऐसी है हमारी अद्भुत, अप्रतिम,अथाह ज्ञान की भंडार महानतम भारतीय संस्कृति।हमें गर्व है अपनी संस्कृति पर।

—रंजना माथुर दिनांक 30/09/2017
मेरी स्व रचित एवं मौलिक रचना
©

Author
Ranjana Mathur
भारत संचार निगम लिमिटेड से रिटायर्ड ओ एस। वर्तमान में अजमेर में निवास। प्रारंभ से ही सर्व प्रिय शौक - लेखन कार्य। पूर्व में "नई दुनिया" एवं "राजस्थान पत्रिका "समाचार-पत्रों व " सरिता" में रचनाएँ प्रकाशित। जयपुर के पाक्षिक पत्र... Read more
Recommended Posts
‘वसुधैव कुटुम्बकम’ विश्व एक परिवार
हमारी प्राचीन भारतीय संस्कृति समूचे विश्व की संस्कृतियों में सर्वश्रेष्ठ और समृद्ध संस्कृति है | भारत विश्व की सबसे पुरानी सभ्यता का देश है। भारतीय... Read more
भारतीय संस्कृति की विशेषता तथा बचाने के उपाय
" भारतीय संस्कृति की विशेषता तथा बचाने के उपाय " ----------------------------------------------------- " संस्कृति " एक ऐसी ऐतिहासिक सांस्कृतिक , भौगोलिक , दार्शनिक और नीतिगत मानवीय... Read more
विज्ञान तेरी हार है।
जब तक है दूषित पानी हवाओं में प्रदूषण की भरमार विज्ञान की हार है हार है बढता है तापमान हाफता संसार है विज्ञान की हार... Read more
"पुस्तक" संस्कृति संज्ञान शिक्षा सोपान दे सम्मान विज्ञान ज्ञान मान सुज्ञान शुचि ज्ञान शब्द जहान संस्कृति ज्ञान ********** शिक्षण आधार जीवन सार शब्दागार आधार मित्र... Read more