Skip to content

वादा

Priyanka Soni

Priyanka Soni

कविता

February 12, 2018

*******

वादा…
एक यकीन..एक इरादा….
ख़ुद से किया हुआ एक वादा…
महत्वपूर्ण हो जो, हर बात से थोड़ा ज्यादा…
वादा…
एक प्रतिज्ञा….
स्वयं से स्वयं का….
हृदय, वाणी और मस्तिष्क के मेल का…
वादा….
दृढ़प्रतिज्ञ होने का….
उस अटूट विश्वास के प्रति…..
दिखाया गया है जो आपके प्रति….
वादा…
ज़रूरत नहीं…
गीता पर हाथ रखने की…
न ही मर मिटने की….
बस ज़रूरत है…
अपने वक्तव्य पर दृढ़ रहने की…
अपनी प्रतिज्ञा पूर्ण करने की….

*******
–प्रियंका सोनी

Share this:
Author
Priyanka Soni
From: अम्बेडकर नगर (उत्तर प्रदेश)
💞 है यही मेरा अस्तित्व, और यही मेरा वजूद... विधाता का दिया ये जीवन मेरा, है अमृत की बूंद...।।💞 मैं मूलतः अम्बेडकर नगर (उत्तर प्रदेश) की रहने वाली हूँ । मैंने परास्नातक द्वय (हिन्दी साहित्य और समाजशास्त्र से) किया है... Read more
Recommended for you