Aug 14, 2016 · मुक्तक
Reading time: 1 minute

वतन से इश्क करो …….

राष्ट्रहित मै ये जीवन हवन तो करो
जीत जाओगे दिल से जतन तो करो |
मंजिले खुद ब खुद पास आ जाएँगी
इश्क करना ही है तो वतन से करो | — आरसी

48 Views
Copy link to share
Ramesh chandra Sharma
34 Posts · 3.2k Views
Follow 1 Follower
गीतकार गज़लकार अन्य विधा दोहे मुक्तक, चतुष्पदी ब्रजभाषा गज़ल आदि। कृतिकार 1.अहल्याकरण काव्य संग्रह 2.पानी... View full profile
You may also like: