.
Skip to content

वक्त आ गया है जबाव का

ईश्वर दयाल गोस्वामी

ईश्वर दयाल गोस्वामी

गीत

March 25, 2017

वक्त आ गया है, जब़ाब का ।

हुए बहुत दिन घिसते-पिसते ,
वेईमानी का जीवन जीते ।
अब यह ढर्रा नहीं चलेगा ,
सही माल ही यहाँ गलेगा ।
लेख-जोख होगा हिसाब का ।
वक्त आ गया है जब़ाब का ।

अभी और कुछ दिन तुम कर लो,
उल्टा-सीधा अपना काम ।
आगे की फिर ख़ैर नहीं है ,
आगे की फिर जाने राम ।
अनावरण कर दो नक़ाब का ।
वक्त आ गया है जब़ाब का ।
-ईश्वर दयाल गोस्वामी ।
कवि एवं शिक्षक ।

Author
ईश्वर दयाल गोस्वामी
-ईश्वर दयाल गोस्वामी कवि एवं शिक्षक , भागवत कथा वाचक जन्म-तिथि - 05 - 02 - 1971 जन्म-स्थान - रहली स्थायी पता- ग्राम पोस्ट-छिरारी,तहसील-. रहली जिला-सागर (मध्य-प्रदेश) पिन-कोड- 470-227 मोवा.नंबर-08463884927 हिन्दीबुंदेली मे गत 25वर्ष से काव्य रचना । कविताएँ समाचार... Read more
Recommended Posts
कुछ वक्त साथ ले आउँ !!
फुर्सत हो तो मैं आउँ कहो तो कुछ वक्त साथ ले आउँ तुम्हे वक्त नही है जमाने से मुझे फुर्सत नही तेरी यादों की झडी़... Read more
* वक़्त बदलेगा मेरा भी *
सबका वक़्त बदलता है ! एक दिन वक़्त बदलेगा मेरा भी !! आज चाहे वक़्त जैसा भी हो ! कल वक़्त बदलेगा मेरा भी !!... Read more
वक्त
एक इन्सान वक्त से क्या कहता है,गौर फरमाईए मेरे प्यारे मित्रों।इस कविता पर,,,,,,, ऐ वक्त जरा अदब से पेश आ,ऐ वक्त जरा अदब से पेश... Read more
वक्त
वक्त से सीखा की वक्त किसी के लिये रूकता नहीं वक्त ने ही जताया,वक्त सब का एक सा चलता नहीं बदलते वक्त के साथ जो... Read more