वक़्त

वो कहतें हैं , बहुत मजबूरियाँ हैं वक़्त की,
वो साफ़ लफ़्ज़ों में , ख़ुद को बेवफ़ा नहीं कहते..!!

5 Likes · 1 Comment · 9 Views
Nisha garg Own And Famous writer's poem, Shayari, Gajal, etc email I'd gargnisha718@gmail.com
You may also like: