.
Skip to content

लड़की-के अनोखी रिश्ते

Rashmi Porwal

Rashmi Porwal

कविता

October 28, 2017

अनोखे रिश्ते
लड़की- मम्मी#मम्मी- हां बेटा#लड़की – कुछ पूछना है आपसे
मम्मी – हां बोलो बेटा#लड़की – जब मैंने पापा से प्यार किया तो मुझे””अच्छी बेटी””कहा गया
जबमैंने भाई से प्यार किया तो “”प्यारी बहना”” कहा गया।
जब अपने रिश्तेदारों को प्यार किया तो मुझे””घर की रौनक”” कहा गया
लेकिनजब मैंने किसी लड़के को प्यार किया तो मुझे “”characterless””कहा गया#क्यूँ- माँ क्यूँ
क्याएक लड़का मेरा दोस्त मेरा प्यार नही हो सकता??
#क्या मै किसी लड़के को प्यार नही कर सकती??#मेराभाई जब प्यार करसकता है माँ तो मै क्यूँ नही??
क्या एक लड़की की कोई फीलिंग नही होती ??
मां कैसे है ये एक लड़की- के अनोखे रिश्ते#
क्यूँ उसको अपनी पसंद से जीने का हक़ नही दियाजाता है??

Author
Rashmi Porwal
kisi ki khushi ke sath Khush rehna sbse bda khushi ka kam h
Recommended Posts
एक बेटी की अपनी माँ से अपेक्षा
मेरी एक अपेक्षा मेरी माँ से कि माँ क्यूँ तू मुझे अपना बेटा नहीं समझती, क्योंकि देखा है तेरी आँखों में मैंने एक बड़े बेटे... Read more
??मुझे मार गए जानम ये तेरे बहाने??
दिल को तड़फाते हैं,ये तेरे बहाने। मुझे मार गए जानम,ये तेरे बहाने।। मैंने कहा तुमसे,घर मेरे आ जाना। ना-ना करने लगे पर,ये तेरे बहाने।। मैंने... Read more
मम्मी मेरी सबसे प्यारी
मम्मी मेरी सबसे प्यारी, सबसे न्यारी मेरी मम्मी। लगती है प्यारों में प्यारी मम्मी में जहाँ बसा है, और मैं मम्मी में। मम्मी है तो... Read more
भक्ति और प्यार
"कल अचानक से आया, एक दोस्त सपने में। मुख से लगा था, राम-राम जपने में।।" .. "मैंने पूछा क्या हुआ, क्यूँ अपनाया ये जोग। थक... Read more