31.5k Members 51.9k Posts

लॉकडाउन मजदूर

Apr 13, 2020 11:17 AM

दर्द इनके देखकर
लफ्ज भी हमारे झुठे लगते हैं
हम घरों में बैठे हैं
वो सड़कों की खाक छान रहे हैं ।
अंतरियों और कंठ में भूख प्यास
के छाले पड़े हो
तो पैरों के छालों की कहानियां
क्या समझेगें हम।।
~रश्मि

2 Likes · 2 Comments · 27 Views
Kumari Rashmi
Kumari Rashmi
34 Posts · 3k Views
writing Pratilipi.com Amar ujala mylifepage7.blogspot.com
You may also like: