लड़ो मत डरो

आज है
महत्ता सत्संग की
लड़ रहा विश्व
एक लड़ाई
कोरोना है
उसका नाम
हैं जो
संस्कारी
सदाचारी
मान रहे
चिकित्सक
विशेषज्ञों
सरकार की बात
रह रहे घरों में
कर रहे सत्संग
ईश संग
वही उतरेंगे
भवसागर पार

करते जो
देश
समाज
परिवार से
प्यार
कठिन कदम
उठाने
सरकार को
करते नहीं
लाचार

है संकट
कुछ दिनों का
दो मानवता
का परिचय
बनों देशभक्त
बनों सहायक
रोकने महामारी

गर की यहाँ
गफ़लत
नहीं छोड़ेगा
ये कोरोना
चेतो संभलो
है तकाजा
वक्त का
लड़ना है
करोना से
नहीं डरना है
जीवन में
समझेगा महत्व
जो मानव
इसका
वही योद्धा
कहलायेगा

स्वलिखित लेखक संतोष श्रीवास्तव

3 Views
लेखन एक साधना है विगत 40 वर्ष से बाल्यावस्था से होते हुए आज लेखन चरम...
You may also like: