लड़के भी घर छोड़ जाते हैं।

घर की सलामती को घर छोड़ जाते हैं,
हम अक्सर पैसों के खातिर अपना शहर छोड़ जाते हैं।

खुदा से यू बगावत करना अच्छी बात नहीं,
चंद खुशियों के खातिर हम कर्म छोड़ जाते हैं।

कुछ तय करना, फिर उस पर खड़े रहना हिम्मत की बात है,
एक लम्हे के आराम के खातिर कुछ लोग आने वाली खुशियां छोड़ जाते हैं।

किसी ने रातों में मिल कर मुझसे सच्ची बात कही,
जिसे तुम दिल से चाहो वो अक्सर तुम्हे छोड़ जाते हैं।

कुछ लोग कहते हैं कि लड़कियां ही घर छोड़ती हैं,
अरे साहब घर चलाने को हम लड़के भी घर छोड़ जाते हैं।

2 Likes · 4 Views
You may also like: