लगता है !

लगता है दिल हाथ से जाता रहेगा।
नगमें मुहोब्बत के गाता रहेगा।

तुम रूठ जाओ कभी तो ऐ सनम;
दिल यह तुम्हें यूं ही मनाता रहेगा।

आती नहीं शोखियां हमें कोई मगर ;
सादगी से बस प्यार निभाता रहेगा।

मिल गए तुम जो कभी तो ऐ हमनशीं ;
ये दिल फिर सदा मुस्काता रहेगा।

उल्फत के किस्से यूं तो सुने थे बहुत ;
अब आपबीति तुम्हें बताता रहेगा।

कामनी गुप्ता***
जम्मू !

Like 1 Comment 0
Views 10

You must be logged in to post comments.

Login Create Account

Loading comments
Copy link to share