.
Skip to content

लगता है अपनों ने फंदा पिरोया होगा

Ashish Tiwari

Ashish Tiwari

तेवरी

July 8, 2016

मरने से पहले वो कितना रोया होगा !
पाकर सबकुछ फिर उसने खोया होगा !!

बेवजह ऐसे कोई नहीं मरता यारों ,
जरूर जिंदगी में जहर बोया होगा !!

बहुत दिनों से सोया नहीं था शायद
आज सचमुच चैन से सोया होगा !!

हँसता हसाता मदत भी करता था ,
मर गया ज्यादा भार ढोया होगा !!

साथ रहने खाने हँसने की आदत थी,
अकेला आँसुओं से बदन भिगोया होगा !!

मरता ना अपनों का प्यार मिला होता जुगनू ,
लगता है अपनों ने फंदा पिरोया होगा !!

Author
Ashish Tiwari
love is life
Recommended Posts
शहादत पर
एक पल के लिए बनाने वाला भी रोया होगा, किसी का अरमान जब यूँ मौत की नींद सोया होगा। हाँथों की मेहँदी छूटी भी नहीं... Read more
एक और दीवाली
*एक और दीवाली* अब एक और दीवाली आ गई, हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी, दीवाली का दिल से स्वागत है। मुझे पता है... Read more
अब क्या होगा
सीपियों में नाग छूपे मुक्ता को पहचाने कौन चकाचौंध की दुनिया में अपनों को सब भूल रहे अब क्या होगा नीला थोथा आसमान का बादलों... Read more
हमकों नहीं घबराना होगा
हमकों नहीं घबराना होगा। नदी की बहती धारा जैसे, हमको बढ़ते जाना होगा आंधी,तूफाँ,बरसातों से भी नही हमको घबराना होगा। अटल खड़े पहाड़ो है,जैसे निर्भिक... Read more