मुक्तक · Reading time: 1 minute

रिश्ता वो, जिसमे सत्य बहे l

रिश्ता वो, जिसमे सत्य बहे l
सही रिश्ता, सदा सत्य कहे ll

रिश्ते में न, कभी सत्य ढहे l
सही रिश्ता, सहज सत्य सहे ll

अरविन्द व्यास “प्यास”

1 Like · 21 Views
Like
You may also like:
Loading...