.
Skip to content

” ———————————————— राहत दे जाती है ” !!

भगवती प्रसाद व्यास

भगवती प्रसाद व्यास " नीरद "

गीत

August 28, 2017

लिए बांकपन तेरी अदाएं , दस्तक दे जाती हैं !
याद तेरी जब भी आ जाए , छन छन कर आती है !!

लहराती लट बने ओट जब , तिरछी पड़े निगाहें !
कर्णफूल कानों से कहते , कितना बल खाती है !!

कांधे पर लहराती चोटी , औ तेरा खम देना !
एक शरारत से कम है ना , लाली छा जाती है !!

ध्यान बटाये से ना बटता , खुद में खोई खोई !
एहसासों से दूर खड़ी यों , पल पल मुस्काती है !!

गाल गुलाबी , लाज अनकही , हरषाना यह तेरा !
सुधियों के डेरों में गौरी, कहाँ गुमी जाती है !!

जाने अनजाने हारे हैं , इसका भान कहाँ हैं !
बिन बोले ही कितनी बातें , यों ही कह जाती है !!

हम तो मौन खड़े हैं कबसे , थमी थमी हर धड़कन !
तेरी महकी बिखरी साँसें , राहत दे जाती है !!

बृज व्यास

Author
भगवती प्रसाद व्यास
एम काम एल एल बी! आकाशवाणी इंदौर से कविताओं एवं कहानियों का प्रसारण ! सरिता , मुक्ता , कादम्बिनी पत्रिकाओं में रचनाओं का प्रकाशन ! भारत के प्रतिभाशाली रचनाकार , प्रेम काव्य सागर , काव्य अमृत साझा काव्य संग्रहों में... Read more
Recommended Posts
**** जिंदगी ***
[[[[ ज़िंदगी ]]]] दिनेश एल० "जैहिंद" ये जिंदगी क्या है....? पल दो पल का खेला है !! ये दुनिया क्या है....? पल दो पल का... Read more
!! तेरी मुस्कराहट,बरकरार रहे !!
यू ही मुस्कुराहट बरकरार रहे खुशी पल पल घर द्वार रहे न जाने किस्मत ने कैसे मिलाया प्यार की पल पल बरस्ती फ़ुहार रहे.... कट... Read more
नारी तेरी व्यथा अनमोल
सुरक्षित नहीं थी इस जहां में हो गई माँ की कोख असुरक्षित || छीप ही गया है बचपन तेरा खनखनाहट भी खो गयी हैं तेरी... Read more
||अधूरी मुलाकात ||
“बेहिचक उन गलियों की ओर आँखे फिर से खीच जाती है आना जाना तेरा होता था जिनमे कभी उन क़दमों के निशां में खो जाती... Read more