.
Skip to content

राम रहीम

guru saxena

guru saxena

घनाक्षरी

August 30, 2017

बाबा राम रहीम
(घनाक्षरी छंद समान भाव)

राम व रहीम में नहीं है कुछ फर्क यारो,
दोनों की हैं नीतियां समाज खुशहाल की।
राम करें जैसा वैसा वैसा ही रहीम करें,
राम व रहीम की जोड़ी है सुर ताल की।
राम व रहीम मिलकर एक नाम बना,
फिर भी अभिन्नता दिखाई है कमाल की।
जज ने भी बिना किसी भेदभाव पाले हुए,
दोनों को सुनाई सजा दस दस साल की।

गुरू सक्सेना नर सिंहपुर (मध्य प्रदेश)

Author
guru saxena
Recommended Posts
#रंग
*रंग* रहीम भाई , बड़े ही उसूलों वाले , बड़े ही मज़हबी आदमी हैं।पांचों वक़्त की नमाज़ पाबंदी के साथ अदा करते हैं।और हर रोज़... Read more
राम की राजनीति
राजनीति के राम को, मिला बाण का संग I ऊँची सोच से पहले, दोनों ही थे तंग II दोनों ही थे तंग, बड़े पद की... Read more
मर्ज-ए-इशक
ना मुझे राम ना मुझे रहीम चाहिए ना नमक फिटकरी या नीम चाहिए मरीज हो गया हूँ मर्ज-ए-इश्क का टूटे दिल का करदे जो इलाज... Read more
हाइकु
हा. गणतंत्र रोता रहा है गण हँसता तंत्र । बने जालिम भाइयों को लड़ाने राम रहीम । मृग भटके तलाश कस्तूरी की पास उसी के... Read more