रात

सिर पे चूनर डाली रात
गिर गयी कान की बाली रात

चॉद सितारे मेरे ऑगन
है कैसी मतवाली रात

ऐसे मे अब तुम आ जाओ
हो जाये दीवाली रात

दिल के दाग़ हुये यूं रौशन
हो गयी आज उजाली रात

जलता देख के प्यार मे तेरे
डर गयी मुझसे काली रात

आज़म इक अन्जान डगर की मैने मंज़िल पा ली रात

12 Views
You may also like: