दोहे · Reading time: 1 minute

रब का वास

मक्का में ना काशी में,
उस रब का है वास।
न खोजे मिल जाएगा,
अपने दिल के पास।।

1 Like · 30 Views
Like
3 Posts · 133 Views
You may also like:
Loading...