.
Skip to content

– ये प्यारा जग में न्यारा, भारत कुंज हमारा

रणजीत सिंह रणदेव चारण

रणजीत सिंह रणदेव चारण

गीत

July 3, 2017

ये प्यारा जग में न्यारा,भारत कुंज हमारा ।
ए शहीदों इसके गौरव में भी नाम तुम्हारा ।।
ये प्यारा जग में न्यारा ……………………….1

तुम सिमा पर इसके पहरी बनें खडें हों ,
आता कोई संकट तुम डटकर लड़ें हों ।
तुम भारत सिमा पर राही बन हो प्यादा ,,
भूखें-प्यासे रहकर रखतें अमन इरादा ।।
तुम पहरी जिसे गुजरें हम सबका जमारा ,
ये प्यारा जग में न्यारा …………………………2

मुठभेड़ में सिमा पर तुम रंग लहरातें हो ,
भारत माता की जय ललकार लगातें हो ।
सीना गोली लगे तो मिट्टी मलम लगातें हो ,,
तुम देश रक्षा में जीवन शहीद कर जाते हों।।
तुम्हारें रक्त का फोलादी देते जवाब करारा ,
ये भारत जग में न्यारा …………………………3

ए नमन मेरे वतन के शहीदों वारि -वारि ,
तुम्हारे बलिदान से होता ह्रदय ज्वालाधारी ।
तुम्हारे बालिदानो की वाणी हम पर गुँजे ,,
याद दिलाती तेरी रक्त रंगीली माटी धुंजें ।।
तेरी याद दिलाती कुर्बानी तू शहीद प्यारा ,
ये भारत जग में न्यारा ………………………..4

भारती का तूहीं सपूत अमर कहलाया हैं ।
सदाही तुनें भारती का ध्वज ऊंचा लहराया हैं।।
तेरे पर नाज हैं यहां रहने वाले बसेरों का,,
नमन तेरी कुर्बानी को हम जैसे मजबुरों का ।।
रणदेव तेरी गाथा लिखे तु अमर द्वीप हमारा ,
ये प्यारा जग में न्यारा, भारत कुंज हमारा ।
ए शहीदों इसके गौरव में भी नाम तुम्हारा ।।

रणजीत सिंह “रणदेव” चारण
मुण्डकोशियां, राजसमन्द
7300174927

Author
रणजीत सिंह रणदेव चारण
रणजीत सिंह " रणदेव" चारण गांव - मुण्डकोशियां, तहसिल - आमेट (राजसमंद) राज. - 7300174627 (व्हाटसप न.) मैं एक नव रचनाकार हूँ और अपनी भावोंकी लेखनी में प्रयासरत हूँ। लगभग इस पिडीया पर दी गई सभी विधाओं पर लिख सकता... Read more
Recommended Posts
हाइकु.. .
हाइकू- . तुम और मैं कागज की है कश्ती दूर किनारा! . पलकें गिरी आँसू किये किनारा तुम और मैं! . साथ मिलता रुकते कुछ... Read more
चारो ओर उजाला होगा
दीप खुशी के जलते रहेगे, चारो ओर उजाला होगा| मेरा भारत प्यारा होगा, मेरा भारत न्यारा होगा|| हिंदु मुस्लिम सिख ईसाई, आपस मे सब भाई... Read more
ये जो तेरी आंखें हैं , जीने का सहारा हैं ! प्यास है कि घटती नहीं , सावन का नज़ारा है !! बगावत हुई जग... Read more
एक भारत श्रेष्ठ भारत
अद्वितीय अद्भुत अतुल्य अगम्य, भारत राष्ट्र हमारा है। दुनिया-भर मे सबसे न्यारा अति श्रेष्ठ भारत हमारा है। "एक भारत श्रेष्ठ भारत" यही हम सबका नारा... Read more