Skip to content

ये कैसा गठजोड़

RAMESH SHARMA

RAMESH SHARMA

दोहे

February 13, 2018

होता है वो वाकई ,……..समझदार इन्सान !
रिश्तों को जिंदा रखे, खा कर भी नुकसान ! !

देते सही बयान को, …पूरा तोड़ मरोड़ !
राजनीति का झूठ से, ये कैसा गठजोड़ ! !

जाति धर्म के तीर ने,ऐसा किया प्रहार !
मुद्दे सारे हो गए, ……बाकी के बेकार ! !
रमेश शर्मा

Share this:
Author
RAMESH SHARMA
From: मुंबई
अपने जीवन काल में, करो काम ये नेक ! जन्मदिवस पर स्वयं के,वृक्ष लगाओ एक !! रमेश शर्मा
Recommended for you