· Reading time: 1 minute

मौत का खौफ

मौत का खौफ
◆◆◆◆◆◆◆
वो हमारी मौत का
राज जानती है,
लगता है जैसे
वो मौत का यूँ ही
सामान बाँटती है।
पर हम भी कम नहीं हैं
उसकी अकुलाहट में दम नहीं है।
हम भी कम बेशर्म नहीं हैं,
मेरी भी चमड़ी में
उससे कम दम नहीं है।
वो मेरी मौत का राज
क्या जानेगी?
हम उसकी मौत का
हर राज जानते हैं।
वो परेशान सी रहती है
हर रोज हरदम,
मौत का ख्वाब देखती है।
हमसे दूर रहने का
सामान ढूंढती है,
चौबीसों घंटे मौत का
हमराज ढूंढती है।
क्या क्या करें हम आपसे
अपनी बादशाहत का जिक्र,
मेरी इसी अदा से उसे
होती है सदा फिक्र।
😎सुधीर श्रीवास्तव

1 Like · 69 Views
Like
Author
791 Posts · 30.5k Views
संक्षिप्त परिचय ============ नाम-सुधीर कुमार श्रीवास्तव (सुधीर श्रीवास्तव) जन्मतिथि-01.07.1969 शिक्षा-स्नातक,आई.टी.आई.,पत्रकारिता प्रशिक्षण(पत्राचार) पिता -स्व.श्री ज्ञानप्रकाश श्रीवास्तव माता-स्व.विमला देवी धर्मपत्नी,-अंजू श्रीवास्तवा पुत्री-संस्कृति, गरिमा संप्रति-निजी कार्य स्थान-गोण्डा(उ.प्र.) साहित्यिक गतिविधियाँ-विभिन्न विधाओं की रचनाएं कहानियां,लघुकथाएं…
You may also like:
Loading...