मैं तुम्हें जगाने आया हूँ

हे हिंदुस्तान के सभी इंसान जागो
करोना का आया है तूफान जागो
जा रही है लोगों की यहाँ जान जागो
मिट जायेगा हमारा हर निशान जागो
मैं आदित्य
करोना के सीने में आग लगाने आया हूँ
मेरे देश जागो
मैं तुम्हें जगाने आया हूँ।

धरती बन रही है शमशान जागो
मेरे देश के प्यारे सोये नादान जागो
समस्या खोजे है कोई समाधान जागो
जीवन इतना क्यों है परेशान जागो
मैं आदित्य
करोना के सीने में आग लगाने आया हूँ
मेरे देश जागो
मैं तुम्हें जगाने आया हूँ।

जीवन पथ में खड़ा है व्यवधान जागो
प्रकृति लेती कठिन इम्तिहान जागो
मृत्यु के आतंक का है अभियान जागो
करोना को मिल गया है वरदान जागो
मैं आदित्य
करोना के सीने में आग लगाने आया हूँ
मेरे देश जागो
मैं तुम्हें जगाने आया हूँ।

समझ नहीं पा रहा है देखो ये विज्ञान जागो
इस रंगीन वाइरस ने किया है हैरान जागो
बिना टीका के आदमी है जैसे बेजान जागो
सतर्कता ही सुरक्षा का है मुख्य सामान जागो
मैं आदित्य
करोना के सीने में आग लगाने आया हूँ
मेरे देश जागो
मैं तुम्हें जगाने आया हूँ।

चीन का है यही विश्व को दुष्ट योगदान जागो
एक नई आफत लेकर आया वुहान जागो
जैविक हथियार से करता शरसंधान जागो
जिसकी नीयत में है खोट का स्थान जागो
मैं आदित्य
करोना के सीने में आग लगाने आया हूँ
मेरे देश जागो
मैं तुम्हें जगाने आया हूँ।

इसके टीके की खोज कर रहा संस्थान जागो
दिन रात इस पर चल रहा है अनुसंधान जागो
मानव का वाइरस से हो रहा सीधा घमासान जागो
एक सूक्ष्मजीव ने भयंकर उठाया है उफान जागो
मैं आदित्य
करोना के सीने में आग लगाने आया हूँ
मेरे देश जागो
मैं तुम्हें जगाने आया हूँ।

नहीं उड़ रहे हैं नभ में वायुयान जागो
रेल की पटरियां भी हैं कुछ वीरान जागो
बसों के चक्कों भी नहीं हैं गतिमान जागो
बंद मंदिरों में पूजा, मस्जिदों में अजान जागो
मैं आदित्य
करोना के सीने में आग लगाने आया हूँ
मेरे देश जागो
मैं तुम्हें जगाने आया हूँ।

कैसे शांत हुआ है ये सारा आसमान जागो
भूमि करती है मानवजीव से आह्वान जागो
पर्यावरण संतुलन का खतरे में है प्रान जागो
केवल तुम इस पृथ्वी के हो मेहमान जागो
मैं आदित्य
करोना के सीने में आग लगाने आया हूँ
मेरे देश जागो
मैं तुम्हें जगाने आया हूँ।

देख रहा है तमाशा वो भगवान जागो
हमने धरती का किया है नुकसान जागो
आदमी अब बन गया है कोई हैवान जागो
ईश्वर तोड़ता है मानव का अभिमान जागो
मैं आदित्य
करोना के सीने में आग लगाने आया हूँ
मेरे देश जागो
मैं तुम्हें जगाने आया हूँ।

अन्य जीवों के घर का भी है प्रावधान जागो
प्रकृति ने दिया है सबको अधिकार समान जागो
करते रहो समस्त जीवों का यहाँ सम्मान जागो
वसुधैव कुटुम्बकम ही हो हमारा स्वाभिमान जागो
मैं आदित्य
करोना के सीने में आग लगाने आया हूँ
मेरे देश जागो
मैं तुम्हें जगाने आया हूँ।

पुलिस की नींद हो गई है लगता है जैसे श्वान जागो
डॉक्टरों ने करोना से प्रतिशोध लिया है ठान जागो
सफाईकर्मियों के हौसलों ने तोड़ा है म्यान जागो
ट्रेन से पैदल मजदूरों की राह हुई है आसान जागो
मैं आदित्य
करोना के सीने में आग लगाने आया हूँ
मेरे देश जागो
मैं तुम्हें जगाने आया हूँ।

जय जवान जागो जय किसान जागो
जय वृद्ध,सियान जागो जय जवान जागो
जय अति सूक्ष्म जागो जय महान जागो
जय निर्बल जागो जय बलवान जागो
मैं आदित्य
करोना के सीने में आग लगाने आया हूँ
मेरे देश जागो
मैं तुम्हें जगाने आया हूँ।

पूर्णतः मौलिक स्वरचित सृजन की अलख और आग
करोना को पूर्ण भस्म करने की कामना के साथ
आदित्य कुमार भारती
टेंगनमाड़ा, बिलासपुर,छ.ग.

Like 1 Comment 0
Views 63

You must be logged in to post comments.

Login Create Account

Loading comments
Copy link to share