Skip to content

मैं क्या लिखूँ….. तुमको प्रिये….?

Anuradha Pandey

Anuradha Pandey

कविता

June 10, 2017

मैं क्या लिखूँ… तुमको प्रिये…?
तुम कितनी मेरी खास हो….
मदहोश जो कर जाए मुझे…
वो चढ़ा हुआ उन्माद हो….!
ग्रीष्मऋतु का ताप हो…
सावन में बरसता आब हो…!
श्रृंगार मद में सराबोर…
तुम अल्हड़ जल प्रपात हो…
मन को जो भा जाए ,प्रिये..!
वो अनकही हर बात हो,
मैं कर्मयोगी …तेरी राह का,
तुम भाग्यदेव की बिसात हो!
देखकर जिसको मन हरषे…
वो चाँदनी सौगात हो…
मैं क्या लिखूँ… तुमको प्रिये!
तुम कितनी मेरी ख़ास हो….?

“अनुराधा पाण्डेय”

Author
Anuradha Pandey
Recommended Posts
लिखूं क्या मैं कलम से...2
लिखूँ क्या मैं,कलम से लिखूं,या तेरे दम से लिखूँ! आसमान और धरा का, दूर दिखता मिलन लिखूँ! या दूर मन के, मिलन के वो भाव... Read more
क्या लिखूँ (विवेक बिजनोरी)
“सोचता हूँ क्या लिखूँ दिल ए बेकरार लिखूँ या खुद का पहला प्यार लिखूँ सावन की बौंछार लिखूँ या सैलाबो की मार लिखूँ खुशियों का... Read more
प्रियतम
सोचू आज एक खत प्रियतम मै तुम्हारे नाम लिखूँ खत में दिल कि सब बाते लिखूँ संग बीते एक एक पल लिखूँ सपनो कि उड़ानो... Read more
क्या लिखूँ
आज कुछ लिखूँ तुम पर पर क्या लिखूँ कविता ,छन्द या दोहा कविता से सरस तुम मुक्तक से स्वच्छन्द तुम पर मैं क्या लिखूँ तुम... Read more