मैं कवि तो नही

मैं कवि तो नही
बस लिखना पसंद है ।
मैंरवि तो नही
बस दमकना पसंद है ।
मैं …………..
बस लिखना पसंद है ।
मैं शशि तो नही
बस चमकना पसंद है ।
मैं ……………
बस लिखना पसंद है ।
मैं नक्षत्र तो नही
बस टिमटिमाना पसंद है ।
कहा ना मैं कवि तो नही
बस लिखना पसंद है ।
बस लिखना पसंद है ।।

मैं फूल तो नही
बस महकना पसंद है ।
मैं …………..
बस लिखना पसंद है ।
मैं इत्र तो नही
बस गमकना पसंद है ।
मैं …………..
बस लिखना पसंद है ।
कहा ना मैं कवि तो नही
बस लिखना पसंद है ।
बस लिखना पसंद है ।।

मैं खुशी तो नही
बस हँसाना पसंद है।
मैं …………….
बस लिखना पसंद है ।
मैं गम तो नही
बस अफसाना पसंद है ।
कहा ना मैं कवि तो नही
बस लिखना पसंद है ।
बस लिखना पसंद है ।।

मैं प्रकाश तो नही
बस उजाला पसंद है ।
मैं ……………..
बस लिखना पसंद है ।
मैं अन्धकार तो नही
बस अन्धेरा पसंद है ।
कहा ना मैं कवि तो नही
बस लिखना पसंद है ।
बस लिखना पसंद है ।।

————————–
AK

Like 1 Comment 0
Views 35

You must be logged in to post comments.

Login Create Account

Loading comments
Copy link to share