.
Skip to content

मैं और तुम

अमित मौर्य

अमित मौर्य

गीत

January 25, 2017

चलो तुम गीत गाओ, मै साज बन जाऊं,
चलो तुम शब्द बनों मैं आवाज बन जाऊं |

थे किये वादे हमने वो मिलकर हम निभाएंगे,
जिंदगी है गीत प्यार का मिलकर दोनो गाएंगे,
चलो तुम हमराज बनों मै राज बन जाऊं |

चलो तुम गीत गाओ……..

हर कदम हो तेरी राह में तू मंजिल बन जा,
तेरी खातिर जीवन मेरा दिल मे तू बस जा,
तू बन जा दिल मेरा मै धड़कन बन जाऊ,

चलो तुम गीत गाओ……..

चाहे रस्ता रोकें पर्वत या दरिया हमको टोके,
हम न रुकेंगे किसी के रोके हवा के हम हैं झोके,
तुम बन जाओ वेग मेरा मै पवन बन जाऊं

चलो तुम गीत गाओ, मै साज बन जाऊं,
चलो तुम शब्द बनों मैं आवाज बन जाऊं |

अमित मौर्य

Author
अमित मौर्य
मै अमित मौर्य, निवास लखनऊ निवासी-लखीमपुर जिला शौक- मीचिस की तीलियों से घर व कलाकृतियां बनाना, कविता, गजल, दोहे, व अन्य विधाओं में लिखना, पढना, व खाना बनाना | उम्र- 29 वर्ष
Recommended Posts
हमराही
हमराही मैं तेरी तू मेरा जीवन भर का संग है। तू मेरी मैं तेरी पत राखूं ली सौं हमने संग है। दुर्लभ -कठिन बहुत जीवन... Read more
!!!!! तेरी दोस्ती --!! तेरा प्यार--!!!!!
तेरी मोहोब्बत के शुक्रगुजार हैं हम क्यूं की तुम से प्यार करते हैं हम यह जरूरी नहीं को मिलेगे हम बस रहो संग संग, यही... Read more
तू मेरे मन मधुबन बन जा
मेरे प्रियतम तू मेरे मन मधुबन बन जा भीगती रहूँ मैं तू ऐसा सावन बन जा आ बसा लू तुझे अपनी साँसो में मेरे दिल... Read more
मैं और तुम
मैं और तुम मैं प्यासा सागर तट का मैं दर्पण हूँ तेरी छाया का मैं ज्वाला हूँ तड़पन का मैं राही हूँ प्यार मे भटका... Read more