कविता · Reading time: 1 minute

मेरे साथ..ज़िन्दगी है

मेरे साथ ज़िन्दगी है,
यह उसमे पल रहे हैं।
मेरे साथ मे खुशी है,
यह उसमे जल रहे हैं।
मेरे साथ साज़िशें ,
यह रचने में सफल रहे हैं।
यह गम जिनको पाला,
आज मुझको खल रहे हैं।
मेरे साथ ज़िन्दगी है,
यह उसमे पल रहे हैं।

सर्वाधिकार सुरक्षित * (स्व-रचित कविता राजेन्द्र सिंह)

21 Views
Like
You may also like:
Loading...