मेरी बेटी

?????
प्यार की अनोखी
? मूरत हो तुम,
जिन्दगी की एक
? जरूरत हो तुम ,
मेरी आत्मा,
? मेरी जान हो तुम,
मेरी मान और
? अभिमान हो तुम,
मेरी आस्था और
? विश्वास हो तुम,

मेरे दोनों हाथ हो तुम,
?
हर जगह हर पल
? मेरे साथ हो तुम,
?
फूल तो खुबसूरत होते ही हैं,
?
पर फूलों से भी
?ज्यादा खूबसूरत हो तुम।
?लक्ष्मी सिंह ?

300 Views
लक्ष्मी सिंह
लक्ष्मी सिंह
नई दिल्ली
727 Posts · 254.8k Views
MA B Ed (sanskrit) My published book is 'ehsason ka samundar' from 24by7 and is...
You may also like: