.
Skip to content

मेरी बेटी – मेरा वैभव

Bijender Gemini

Bijender Gemini

कविता

January 17, 2017

कविता

मेरी बेटी – मेरा वैभव

– बीजेन्द्र जैमिनी

मेरी बेटी
मेरी शान
मेरी आनबान
मेरी है पहचान
मेरी बेटी – मेरा वैभव

मेरी बेटी
परिवार की शान
परिवार की आनबान
परिवार की है पहचान
मेरी बेटी – मेरा वैभव

मेरी बेटी
देश की शान
देश की आनबान
देश की है पहचान
मेरी बेटी – मेरा वैभव

Author
Bijender Gemini
कवि, लेखक, पत्रकार, समीक्षक पताः हिन्दी भवन, 554-सी, सैक्टर-6, पानीपत-132103, हरियाणा, भारत मो.919355003609
Recommended Posts
** मेरी बेटी **
Neelam Ji कविता Jul 19, 2017
मिश्री की डली है मेरी बेटी , नाजों से पली है मेरी बेटी । हर गम से दूर है मेरी बेटी , पापा की परी... Read more
बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ
Neelam Ji कविता Feb 23, 2017
**बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ** पढ़ेगी बेटी आगे बढ़ेगी बेटी । बेटों से भी बढ़कर चमकेगी बेटी । जग में नाम रोशन करेगी बेटी । हर... Read more
( बेटी )
( बेटी ) क्या मेरा हैं कसूर तू बता दे मेरी माँ कही गड्ढे में कही नाली में क्या यही हैं मेरी पहचान माँ मेरी... Read more
बेटी का है सम्मान
कविता बेटी का है सम्मान - बीजेन्द्र जैमिनी बेटी पढा़ओ- शिक्षा है वरदान मानव जाति का है कल्याण बेटी का है सम्मान बेटी बचाओ -... Read more