में जिसे आज तक ना कह पाया,,

में जिसे आज तक ना कह पाया।
उसने वो बात ट्वीट कर दी है।।

जो कहानी सुनी सुनाई थी।
आप ने फिर रिपीट कर दी है।।

आप ने आ के ज़िन्दगी मे मेरी।
ज़िन्दगी स्वीट स्वीट कर दी है।।

तेरी फ़ोटो छुपा के रक्खी थी।
जाने किसने डिलीट कर दी है।।

रोज़ की तरह उसकी यादों ने।
आज फिर मारपीट कर दी है।।

चाँद तारे भी कर दिए ज़ख़्मी।
रात ऐसे घसीट कर दी है।।

——//अशफ़ाक़ रशीद..

2 Views
You may also like: