.
Skip to content

“मेंहदी” (हाइकु)

Dr.rajni Agrawal

Dr.rajni Agrawal

हाइकु

August 1, 2017

“मेंहदी” (हाइकु)

मन भावन
मेंहदी रचे हाथ
पिया का साथ।

पीस पत्तियाँ
करतल सजाईं
खूब रचाईं।

मेंहदी लगी
जो पिया मन भाई
सुर्ख कलाई।

प्रीत बढ़ाएँ
मेंहदी रचे हाथ
पिया का साथ।

प्यार हमारा
मेंहदी पर नाम
लिखा तुम्हारा।

नई नवेली
मेंहदी की हवेली
सुख श्रृंगार।

डॉ. रजनी अग्रवाल “वाग्देवी रत्ना”
संपादिका साहित्य धरोहर
महमूरगंज, वाराणसी (9839664017)

Author
Dr.rajni Agrawal
 अध्यापन कार्यरत, आकाशवाणी व दूरदर्शन की अप्रूव्ड स्क्रिप्ट राइटर , निर्देशिका, अभिनेत्री,कवयित्री, संपादिका समाज -सेविका। उपलब्धियाँ- राज्य स्तर पर ओम शिव पुरी द्वारा सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री पुरस्कार, काव्य- मंच पर "ज्ञान भास्कार" सम्मान, "काव्य -रत्न" सम्मान", "काव्य मार्तंड" सम्मान, "पंच रत्न"... Read more
Recommended Posts
तेरे नाम की मेंहदी
????? हमने हथेली पर लगाई है पिया तेरे नाम की मेंहदीं। तुम्हारे प्यार की मेंहदीं। तुम्हारे इकरार की मेंहदी। मेहदीं लगे हथेली को देख मन... Read more
मुक्तक - सावन कजरी
आईं सखियाँ गाये कजरी। बिजुरिया मोती सी चमकी। पिया ठाड़े दूरहि मुस्काये, भीजी चुनरिया तनहिं लिपटी।।. ****** मेंहदी रची सखी हँसती। देखि पिया महकी कहती।... Read more
मुक्तक
मुक्तक १) सकारात्मकता को बीज बनाकर तू सींचदे,मन वसुधा पर सोकर। सुखद फसल हीं उपजेगीं सब, काटने हेतु तू रहना तत्पर। २) मेंहदी कंगना चूड़ियां... Read more
*** रंग डारो मोरे मन को ***
तन रंगे अब का होवे है रंग डारो मोरे मन को ।। ओ पिया ओ पिया ओ पिया मैं तो हो ली अब साजन की... Read more