Skip to content

मूर्ख दिवस पर

RAMESH SHARMA

RAMESH SHARMA

दोहे

April 1, 2017

खूब बनाया प्यार से, .सबको एप्रिल फूल !
जब हर दिल में प्रेम था,मौसम थाअनुकूल !!

दिवस एप्रिल फूल का,आता है जिस रोज!
इक दूजे के बीच मे,रहे मूर्ख सब खोज !!

क्या होगा इससे अधिक,वहाँ मित्र अपमान!
करना पड जाये जहाँ, .मूर्खो का सम्मान!!

करे हीन महसूस खुद ,वहाँ बहुत विद्वान!
जहाँ हाथ से कर दिया,मूर्खों का सम्मान!!
रमेश शर्मा..

Author
RAMESH SHARMA
अपने जीवन काल में, करो काम ये नेक ! जन्मदिवस पर स्वयं के,वृक्ष लगाओ एक !! रमेश शर्मा
Recommended Posts
*अपनी संस्कृति को पहचानो* जागो ! हिंदुओं जागो !
*अप्रैल फूल कहने से पहले वास्तविकता इसकी क्यों नहीं जान रहे हो ? पावन महीने की शुरुआत को मूर्खता दिवस कहकर क्यों मना रहे हो... Read more
विश्व हिंदी दिवस पर
हिंदी मेरे देश की, मोहक मधुर जुबान ! इसका होना चाहिए, दुनिया में उत्थान !! हिंदी के हर शब्द में,छिपा हुआ है ज्ञान ! इसका... Read more
वैलेंटाइन डे युवाओं का एक दिवालियापन
प्रेम शब्दों का मोहताज़ नही होता प्रेमी की एक नज़र उसकी एक मुस्कुराहट सब बयां कर देती है, प्रेमी के हृदय को तृप्त करने वाला... Read more
नारी दिवस की बधाई
ईश्वर की खूबसरत संरचना हूं मै एक नारी हूं गुरूर है खुद पर खुद के वजूद पर छू लेना चाहती हू आसमान को उसमे उगे... Read more