मुहब्बत की निशानी

वो पतझड़ में भी अक्सर ऋतु सुहानी भेज देते हैं
…….कभी फिर याद में बीती कहानी भेज देते हैं
….मुझे जो भूल बैठे हैं न जाने किसलिए अक्सर
…..वो आँखों में मुहब्बत की निशानी भेज देते हैं
सुकांत तिवारी

Like Comment 0
Views 9

You must be logged in to post comments.

Login Create Account

Loading comments
Copy link to share