कविता · Reading time: 1 minute

मुस्कान

हर पल मुस्कुराते रहो
खुशियां हर तरफ बिखराते रहो
जो आए कभी कोई गम
लड़ो उससे, लेकिन मुस्कुराते रहो।।

अच्छा लगता है मुस्कुराता चेहरा तेरा
मुस्कान तुम्हारी, सपना है किसी का
बनाया है जिस ईश्वर ने मानव जाति को
मुस्कान तो एक वरदान है उसी का।।

होती है जब मुस्कान चेहरे पर
चेहरे का नूर बढ़ा देती है मुस्कान
अगर करो मुस्कुरा के सामना
गमों को दूर भगा देती है मुस्कान।।

बहुत खुश हो जाती है मां भी
देखकर मुस्कान बच्चों के चेहरे पर
भूल जाते हैं सारे गम उसके
देखकर मुस्कान बच्चों के चेहरे पर।।

देखकर मां बाप का मेरे
झुरिओं वाला वो मुस्कुराता चेहरा
हमेशा छपा रहता है मन में
जब देखा था मुझे पहन के सेहरा।।

चेहरे पर बाल गोपाल के
सबसे अच्छी लगती है मुस्कान
जब मिलती है देखने को
देख उसे, हर्षित हो जाता है इंसान।।

हज़ार शब्द जो न कर सके
वो भी कर जाती है बस एक मुस्कान
है ईश्वर से दुआ अब एक ही
हर चेहरे पर सदा बनी रहे मुस्कान।।

8 Likes · 237 Views
Like
You may also like:
Loading...