मुश्किल में हैं देश

कोरोना हावी हुआ,मुश्किल में है देश ।
माँ अम्बे संकट हरो,करता अर्ज रमेश ।।

संकट मे है जान पर,लिखता कविता छंद ।
कोरोना ने कर दिया,.. बेशक घर के बंद ।।

हल इसका ढूँढा नही, हमने यदि श्रीमान ।
कोरोना से शर्तिया ,…..संकट में हैं जान ।।
रमेश शर्मा…

Like 3 Comment 1
Views 51

You must be logged in to post comments.

Login Create Account

Loading comments
Copy link to share