मुक्तक

वो नहीं डरते जो मौत का जश्न मनाते हैं।
दुश्मनों को सदा दोस्ती करना सिखाते हैं।
भूले-भटके हर किसी को जो राह पर लाते-
अंधकार में मशाल की भूमिका निभाते हैं।
-लक्षमी सिंह
नई दिल्ली

Like 4 Comment 0
Views 49

You must be logged in to post comments.

Login Create Account

Loading comments
Copy link to share