23.7k Members 49.9k Posts

मुक्तक

29-11-प्रथम क्रंदन
एक और शिशिर बीत गया
मन कुछ और रीत गया
पर,जवां होने का गुरुर
कायम है बदस्तूर
अभी कहाँ यारो,
अभी तो अर्धशतक
है तीन कोस दूर।
-©नवल किशोर सिंह

3 Likes · 5 Views
नवल किशोर सिंह
नवल किशोर सिंह
वर्तमान-तिरुचि,तमिलनाडु
162 Posts · 3.5k Views
पूर्व वायु सैनिक, शिक्षा-एम ए,एम बी ए, मूल निवासी-हाजीपुर(बिहार), सम्प्रति-सहायक अभियंता, भेल तिरुचि, तमिलनाडु, yenksingh@gmail.com...