मुक्तक

गमों की आँच में हम गीत लिख नहीं पाए
मिले जो आपसे वो प्रीत लिख नहीं पाए
लिखा तो है मगर ये कौन सी लिखावट है
खुदा के नाम को मनमीत लिख नहीं पाए

1 Like · 197 Views
A poet by birth...A CA by profession...
You may also like: